गुरुद्वारे / Gurudwaras

ब्रह्म कुंड और नजरबाग इलाकों में स्थित गुरुद्वारों में गुरु नानक देव जी, गुरु तेग बहादुर जी और गुरु गोविंद सिंह जी की स्मृतियों को संजोया गया है। The gurudwaras at Brahm Kund and Nazarbagh localities have been associated with Guru Nanak Dev Ji, Guru Teg Bahadur Ji and Guru Govind Singh Ji.

सरयू नदी / Saryu River

उत्तर प्रदेश की प्रमुख नदियों में से एक, सरयू नदी का उल्लेख हिन्दू ग्रंथों, वेद और रामायण में मिलता है। यह अयोध्या से बहती है और यहां की समस्त अशुद्धियों को नष्ट कर नया जीवन देती है। राम की पैड़ी सरयू नदी के किनारे है, जहां घाट और बगीचों की श्रृंखला भी है। यहां विभिन्न धार्मिक अवसरों पर भक्त पवित्र …

तुलसी स्मारक भवन / Tulsi Smarak Bhawan

तुलसी स्मारक भवन महान संत-कवि गोस्वामी तुलसीदास जी को समर्पित है। नियमित रूप से यहां प्रार्थना, भक्ति संगीत और धार्मिक प्रवचन आयोजित होते हैं। परिसर में स्थित अयोध्या शोध संस्थान के पास गोस्वामी तुलसीदास पर साहित्यिक रचनाओं का एक बड़ा भंडार है। संस्थान द्वारा तुलसी स्मारक सभागार में शाम को 6 से 9 बजे तक …

नागेश्वर नाथ मंदिर / Nageshwarnath Temple

कहा जाता है कि नागेश्वर नाथ मंदिर को भगवान राम के पुत्र कुश ने बनवाया था। माना जाता है जब कुश सरयू नदी में नहा रहे थें, तो उनका बाजूबंद खो गया था। बाजूबंद एक नाग कन्या को मिला जिसे कुश से प्रेम हो गया। वह शिवभक्त थी। कुश ने उसके लिए यह मंदिर बनवाया …

मणि पर्वत / Mani Parbat

65 फीट ऊंचे इस मणि पर्वत के विषय में मान्यता है कि हनुमान भगवान राम के भाई लक्ष्मण के लंका में मूर्छित होने पर इस पर्वत से संजीवनी बूटी लेकर आए थें। कुछ विद्वानों का यह भी मनना है कि यहीं से बौद्ध धर्म का उद्गम हुआ था। The 65-ft high Mani Parbat is believed …